अशोकनगर अमर है राव देशराज सिंह यादव गली चौपालों में सुनाए जाते इन के किस्से

0
591

 

अशोकनगर

अशोकनगर अमर है राव देशराज सिंह यादव गली चौपालों में सुनाए जाते इन के किस्से।

खबर मध्य प्रदेश से हैं जहां अशोकनगर जिले से है जहां मध्य प्रदेश की राजनीति में एक अलग पहचान बनाने वाले अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा से पूर्व विधायक स्वर्गीय राव देशराज सिंह जी यादव 31 अक्टूबर 2016 अशोकनगर जिले की राजनीति के लिए एक बहुत बड़ा क्षति का दिन था क्योंकि इसी के दिन अशोकनगर जिले के चहेते नेता राव देशराज सिंह यादव जनता के बीच से चले गए थे आज उनकी पुण्यतिथि है राव नेता की धाक कभी कम नहीं हुई वे जितनी शान से जी उतनी ही शान से चले गए चंदेरी जनपद के छोटे से गांव अमरोद में किसान परिवार में 2 मार्च 1957 को जन्मे देशराज सिंह यादव को राजनीति में बचपन से रुचि थी मध्य प्रदेश के गठन के बाद पहली बार चुनाव हुए थे तब किसी ने नहीं जाना था कि ढाई दशकों तक जिले की राजनीति पर एकछत्र राज करेंगे 25 वर्ष की आयु सन 1982 में जनसंघ की सदस्यता लेने के बाद पीछे मुड़कर नहीं देखा और मृत्यु पर्यन्तजिले के सबसे बड़े नेता की अपनी छवि कायम रखें 1983 में अवरोध ग्राम पंचायत के पंच निर्वाचित होने के बाद व भाजपा के कई मंडल व जिला स्तरीय पदों पर काबिज रहे 1989 में अमरोद से सरपंच चुने गए इसी समय हुए लोकसभा चुनाव में उन्होंने राजमाता विजय राजे सिंधिया के चुनाव का संचालन कियाचुनाव संपन्न होने के बाद देशराज सिंह ने राजमाता को बचे हुए पैसे वापस किए जो राजमाता के दिल में अमिट छाप छोड़ गया अगले वर्ष प्रदेश में 9वीं विधानसभा के चुनाव थेराजा राजमाता ने आशीर्वाद के साथ देशराज सिंह को मुंगावली विधानसभा सीट से चुनावी तैयारी के निर्देश दे दिए ग्रामीणों में सहज सरल संवाद के लिए प्रसिद्ध देशराज सिंह ने भाजपा के टिकटपर चुनाव लड़ा और जीतकर विधानसभा पहुंचे इसके बाद मुंगावली विधानसभा सीट मानो देशराज सिंह यादव के लिए आराजित हो गईइस विधानसभा क्षेत्र में उन्होंने 2013 तक सभी विधानसभा चुनाव लड़े इस दौरान वह तीन बार विधायक रहे किसी के साथ दिग्गज कांग्रेसी नेता स्वर्गीय माधवराव सिंधिया व उनके पुत्र ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ दो बार गुना शिवपुरी संसदीय सीट से भी चुनाव लड़े वर्तमान में भी उनकी पत्नी भाई साहब यादव अशोकनगर जिला पंचायत अध्यक्ष हैं 2 पुत्र अजय प्रताप यादव अशोकनगर मंडी के अध्यक्ष हर जिले में राजनीतिक समीकरणों को बदलने का दमखम रखता है अपने 27 वर्षीय राजनीतिक जीवन में वर्कर भी मंत्री आज सांसद नहीं बने लेकिन उनकी धाक और साख कभी भी इन से कम नहीं रही उनके 3 पुत्र उनकी राजनीतिक विरासत को बखूबी सहेजें और संभाले हुए हैं उनके अशोक नगर में तारे कॉलोनी स्थित आवास पर रोजाना समस्याएं लेकर कई लोग पहुंचते हैं जिन्होंने उनका दौर देखा है केवल वही समझ सकते हैं कि जनता का नेता कौन होना चाहिए और कैसा होना चाहिए

इंडियन टीवी न्यूज़ के लिए अशोकनगर ब्यूरो चीफ राम यादव की रिपोर्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here