युवक की थाने में मृत्यु की अफवाह पुलिस कर्मी पर हमला पांच घायल।

0
155

युवक की थाने में मृत्यु की अफवाह पुलिस कर्मी पर हमला पांच घायल

*ग़ाज़ीपुर से ब्यूरो जाशवन्त कुशवाहा की रिपोर्ट*

ग़ाज़ीपुर।मरदह थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव में बीते गुरुवार को रामलीला मंचन के दौरान हुए विवाद के बाद शुक्रवार को रामलीला कमेटी अध्यक्ष के उपर हमला,शनिवार उग्र ग्रामीणों द्वारा मौत की अफवाह सूचना पर चक्काजाम,धरना प्रदर्शन के साथ ही जमकर थाना मुख्यालय सहित पुलिस कर्मियों पर ईट पत्थर से हमला करने के बाद चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल हो गया ।एकत्रित भीड़ को हटाने के लिए पुलिस को हल्का बल प्रयोग करना पड़ा उसके बाद भी पूरे दिन पुलिस व जनता के बीच गुरिल्ला युद्ध कि स्थिति बनी रही।उसी प्रकार सत्ता में सरकार चाहें किसी की हो दोषी हमेशा वहीं बनता है। यह कहा कि सरियत और कानून,किसी भी व्यक्ति को कानून को हाथ में लेना जुर्म है,लेकिन कुछ चंद जुमलों वाले लोग भोले भाले गांव वालों को बहला फुसला कर ऐसा कृत्य करने पर विवश करते हैं और फिर पीछे से राजनीतिक रोटी सेंकना शुरू कर देते हैं।फिर क्या जनता पीस रही हैं।लेकिन सोचिए हर मामले में दोषी पुलिस ही बन जाती हैं आखिर क्या पुलिस होना या बनना गुनाह है तो फिर क्यों आपके ही घरों के लोग पुलिस सेवा में जाते हैं।आपके जाति बिरादरी समाज घर गांव के ही तो पुलिस बनते तो फिर उनके उपर इतनी ज्यादती क्यों किया जाता, इतनी बुरी नज़र से क्यों देखा जाता है।इसका भी रास्ता निकलना चाहिए।तब जाकर एक अच्छे समाज कि स्थापना सभंव है।पुलिस के ऊपर हुए हमले में थानाध्यक्ष विरेन्द्र कुमार,उप निरीक्षक मरदह हल्का,लल्लू प्रसाद दीवान,कुलदीप बिन्द,सुनील बिन्द,संदीप पाण्डेय, विशाल सिंह,राजेश तिवारी,गौरव सिंह,महिला कांस्टेबल ब्यूटी,अंशू,अर्चना,निष्पा,पुष्पा सहित कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।
*ग़ाज़ीपुर से ब्यूरो जाशवन्त कुशवाहा की रिपोर्ट*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here