शहडोल/राजस्व अधिकारी संवेदनशीलता के साथ कराएं राजस्व प्रकरणों का निराकरण- कलेक्टर* *ग्रामीणों की राजस्व के लंबित समस्याओं का निराकरण करें अधिकारी- अपर कलेक्टर* *कलेक्टर एवं अपर कलेक्टर ने नायब तहसीलदार वेदवती सिंह के कार्यों की प्रशंसा की* *राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक संपन्न*

0
104

इंडियन टीवी न्यूज़ शहडोल से संवाददाता घनश्याम शर्मा की रिपोर्ट मध्य प्रदेश

*राजस्व अधिकारी संवेदनशीलता के साथ कराएं राजस्व प्रकरणों का निराकरण- कलेक्टर*

*ग्रामीणों की राजस्व के लंबित समस्याओं का निराकरण करें अधिकारी- अपर कलेक्टर*

*कलेक्टर एवं अपर कलेक्टर ने नायब तहसीलदार वेदवती सिंह के कार्यों की प्रशंसा की*

*राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक संपन्न*

 

 

 

 

*शहडोल 23 अगस्त 2022-* कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य ने जिले के सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि राजस्व प्रकरणों का निराकरण पूरे संवेदनशीलता के साथ कराएं। शासन द्वारा संचालित जनहितकारी योजनाओं का लाभ समाज के अंतिम छोर तक बैठे व्यक्ति को प्राथमिकता के आधार पर दिलवाना सुनिश्चित करें। शासन की समस्त योजना गरीबों और असहाय वर्ग के लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। सभी राजस्व अधिकारी इसे प्राथमिकता के आधार पर ले तथा अपने कर्तव्यों का पालन कर्तव्य निष्ठा के साथ करें। कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों से कहा कि न्यायालयीन प्रकरणों के साथ-साथ सीएम हेल्पलाइन एवं समाधान ऑनलाइन प्रकरणों का भी जल्द से जल्द निराकरण करना सुनिश्चित करें तथा कोई भी प्रकरण अनअटेंडेंट ना रहे। उक्त निर्देश कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य ने आज कलेक्टर कार्यालय के विराट सभागार में आयोजित राजस्व अधिकारियों की समीक्षा बैठक में दिए।

 

 

 

 

बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिये कि सभी राजस्व अधिकारी अपने क्षेत्र में कानून एवं व्यवस्था पर पूरी निगरानी रखने के साथ ही क्षेत्र की हर गतिविधि पर भी नजर रखें। अपने क्षेत्र की प्रत्येक संवेदनशील और महत्वपूर्ण घटनाओं की जानकारी से प्रतिदिन जिला प्रशासन को अवगत करायें। कलेक्टर ने निर्देश दिए कि राजस्व के नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन के प्रकरण निर्धारित समय सीमा में निराकृत करें तथा निराकरण की ऐसी प्रणाली विकसित करें जिससे प्रकरणों की जानकारी पारदर्शिता के साथ मिले और प्रकरण शीघ्र निराकृत हों। आर.सी.एम.एस. में दर्ज प्रकरणों का भी समय पर निराकरण करें लंबित प्रकरणों का प्राथमिकता के आधार पर शीघ्र निराकरण करें तथा यह सुनिश्चित करें कि 300 दिनों से अधिक का कोई भी प्रकरण लंबित नहीं रहे।

कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि सभी राजस्व प्रकरण ऑनलाइन दर्ज कर सभी प्रक्रियाएं ऑन लाईन निष्पक्षता और विधि के अनुसार करते हुये आदेश भी ऑनलाईन पारित कर प्रकरणों का निराकरण करें जिससे हितग्राही समय पर लाभान्वित हो सकें। उन्होंने निर्देश दिये कि पटवारी अपने हल्के के ग्रामों के सभी अविवादित व विवादित नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, अतिक्रमण, डायवर्सन, वसूली आदि के प्रकरणों की एक पंजी संधारित करें, जिससे सारी जानकारी एक साथ मिल सके। इस पंजी में तहसीलदार और नायब तहसीलदार न्यायालयों द्वारा प्रकरणों में पारित आदेश की प्रविष्टि भी करें।

बैठक में अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा ने जिले के समस्त अनुविभागीय अधिकारी राजस्व, तहसीलदार तथा नायब तहसीलदारों को निर्देशित किया कि सभी राजस्व अधिकारी पूरे आस्था के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करें तथा उनके क्षेत्र अंतर्गत विभिन्न ग्रामों से आने वाले ग्रामीणों की समस्याओं को सुनकर निराकरण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से लोग बड़े आस्था और विश्वास के साथ अपनी समस्याएं लेकर आते हैं, उनके समस्याओं का निराकरण हर हाल में होना चाहिए। हम सबको अपने कार्य में संवेदनशीलता का परिचय देना चाहिए। अपर कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देशित किया कि अगले 15 दिवस के भीतर न्यायालय के जितने भी प्रकरण है सब का निराकरण हो जाए तथा न्यायालय की स्थिति में सुधार करें।

अपर कलेक्टर ने कहा कि राजस्व अधिकारियों को अपनी सोच का दायरा विस्तृत करते हुए कार्य को बेहतर ढ़ंग करने की आदत डाले। बैठक में धारणाधिकार, मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार पत्र योजना, पीएम किसान योजना, आरसीएमएस पोर्टल मासिक पत्रक, नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, राजस्व वसूली, सीएम हेल्पलाईन, लोक सेवा गारंटी अधिनियम, भू-अर्जन तथा स्वामित्व योजना सहित अन्य विषयों पर गहनता से समीक्षा की गई। बैठक में कलेक्टर श्रीमती वंदना वैद्य एवं अपर कलेक्टर श्री अर्पित वर्मा ने राजस्व प्रकरण, सीमांकन बंटवारा, विवादित एवं अविवाहित बंटवारा पर बेहतर कार्य एवं जिले में सबसे ज्यादा प्रगति पर नायब तहसीलदार श्रीमती वेदवती सिंह का सराहना की। कलेक्टर ने सभी राजस्व अधिकारियों को कहा कि राजस्व अधिकारी इसी प्रकार कार्य करें तथा अपने सभी प्रकरणों का निराकरण समय सीमा में करें जिससे कि न्यायिक व्यवस्था सुधारी जा सके।

बैठक में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जयसिंहनगर श्री दिलीप कुमार पांडेय, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व सोहागपुर श्रीमती प्रगति वर्मा, अनुविभागीय अधिकारी राजस्व ब्यौहारी श्री नरेंद्र सिंह, एवं अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जैतपुर श्री ज्योति सिंह परस्ते, तहसीलदार श्रीमती मीनाक्षी बंजारे, नायब तहसीलदार श्री अभयानंद शर्मा, श्री के.एल. पनिका, श्री रॉबिन जैन, श्री अमित मिश्रा, श्री दीपक पटेल, श्रीमती वेदवती सिंह, श्रीमती साक्षी गौतम सहित अन्य राजस्व अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here