अंधे कत्लों का सीरियल किलर गिरफ्तार , सागर से लेकर भोपाल तक चार चौकीदारो की हत्या की

0
82

मशहूर होने की फितरत में चार हत्याएं, नेगेटिव माइंड सेट है किलर सागर। मध्यप्रदेश में चौकीदारों की जान को खतरा बना सीरियल किलर को सागर पुलिस ने भोपाल से गिरफ्तार कर लिया है। सागर में सिर्फ तीन दिन में तीन चौकीदारों की हत्या की। इसके बाद भोपाल जाकर एक चौकीदार की जान ली। सोते हुए लोगो को मारकर फेमस होने की चाहत रखने वाला 19 साल का किलर भोपाल में हत्या करने के कुछ घंटो में ही पकड़ा गया।

सागर झोन के आईजी अनुराग और एसपी तरुण नायक ने मीडिया के सामने पूरी घटना का खुलासा किया। पुलिस ने तीस हजार रूपये का इनाम भी घोषित किया था। फिल्म KGF की तर्ज पर रॉकी बनकर मशहूर होना चाहता था। पुलिस की इस उपलब्धि पर सीएम शिवराज सिंह चौहान और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सागर पुलिस को बधाई दी है।

सिविल लाईन थाना क्षेत्र के आर्ट एन्ड कामर्स कालेज में चौकीदारी करते समय शंभू दयाल दुबे की हत्या हुआ। सुबह कालेज के अन्य चौकीदार जगदीश रैकवार ने फोन करके परिजनो को सूचना दी की किसी अज्ञात व्यक्ति ने सोते समय मेरे पिता के सिर पर बड़ा सा पत्थर पटककर उनकी हत्या कर दी है। सागर शहर में दिनांक 27-28 अगस्त की रात्रि में थाना केन्ट में भैसा बायपास पर स्थित एक ट्रक बाडी रिपेयरिंग की गैरिज में हुई।

चौकीदार कल्याण सिंह लोधी की हत्या तथा झांसी बस स्टैण्ड स्थित ग्रीन होटल में सो रहे चौकीदार के साथ मारपीट की गई। इसके बाद दिनांक 30-31.08.22 मोतीनगर थाना क्षेत्र में भोपाल रोड पर रतोना ग्राम सतपाल पेट्रोलपंप के सामने एक निर्माणाधीन मकान के अंदर सो रहे चौकीदार मंगल अहिरवार की हत्या की वारदात सामने आई।

आईजी अनुराग के मुताबिक सागर शहर में हो रही लगातार हत्याओं से शहर में एक भय का वातावरण का निर्माण हो रहा था व लोगो में चर्चा व भय बना हुआ था। घटना की गंभीरता को देखते हुये आईजी और डीआईजी विवेक राज सिंह द्वारा पुलिस अधीक्षक सागर को उक्त घटनाओं के आरोपी की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु निर्देश दिये गये । एसपी तरुण नायक द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक विक्रम सिंह, अति. पुलिस अधीक्षक ज्योति सिंह, नगर पुलिस अधीक्षक प्रवीण अस्थाना , नगर पुलिस अधीक्षक मकरोनिया निकिता गोगुलवार के मार्गदर्शन में शहर के थाना प्रभारियो एवं कर्मचारियो की एक विशेष टीम गठित कर अज्ञात आरोपी की पतारशी हेतु क्षेत्र व शहर के विभिन्न क्षेत्रो में सक्रिय किया गया। करीब 250पुलिसकर्मी इस अभियान में जुड़े। सीसीटीवी कैमरों, मौके पर साक्ष्यों और तकनीकी जानकारियों के आधार पर पुलिस जुटी।

सीसीटीवी को खंगाला पुलिस ने
अज्ञात आरोपी की पता तलाश के दौरान थाना केन्ट के घटना स्थल के सामने गोदाम पर लगे सीसीटीवी कैमरे को चेक किया गया, कैमरों में घटना स्थल का मुख्य गेट नजर आ रहा है, थाना सिविल लाईन के घटना स्थल के आसपास लगे सीसीटीवी कैमरे एवं मृतक के मोबाईल बंद होने के स्थान, घटना स्थल तक के सभी संभावित स्थानो के सीसीटीवी कैमरे चेक कराये गये है । थाना मोतीनगर के घटना स्थल रतौना के पास भारत पेट्रोलपंप एवं लेहदरानाका के सीसीटीवी कैमरे चेक कराये गये है, तथा शहर एवं आउटर में स्मार्ट सिटी कंट्रोलरूम के सीसीटीवी कैमरे भी चेक कराये गये। थाना मोतीनगर के घटना स्थल ग्राम रतौना के आसपास खेतो, पहाड़ी क्षेत्रो व ग्राम भापेल, हफसिली, अमावनी, रतौना रेल्वे स्टेशन के आसपास सघन सर्चिंग अभियान चलाया जाकर ग्रामीणो की मदद से आरोपी की तलाश एवं पतारशी के प्रयास किये गये ।

उक्त सभी प्रयासों से उक्त घटनाओ के संदिग्ध की हुलिया के बारे में काफी जानकारी प्राप्त हुई। जिसके आधार पर संदिग्ध व्यक्ति का स्कैच तैयार कराया गया। जिसे जिले एवं अन्य जिलों में भी प्रसारित किया गया। एवं मुखबिरो को इसकी पतारशी हेतु लगाया गया। तथा शहर एवं उसके आसपास पुलिस की कई टीमें बनाकर आम लोगो एवं विभिन्न संस्थानों के चौकीदारों को जागरुक किया गया एवं अज्ञात आरोपी की संभावित स्थानो पर तलाश जारी रखी गई। भोपाल की मिली लोकेशन पुलिस के मुताबिक इसी दौरान ऐसे कुछ साक्ष्य प्राप्त हुये जिसके आधार पर संदिग्ध की जानकारी प्राप्त करने हेतु एवं त्वरित कार्यवाही हेतु विशेष टीम के अंतर्गत उनि नेहा सिंह गुर्जर, प्रआर ब्रजेश शर्मा, अमित पटेल, मुकेश, अमित चौबे आर. आशीष गौतम, प्रदीप शर्मा, प्रिंस जोशी, मनीष तिवारी , सायबर सेल से अमित शुक्ला को भोपाल रवाना किया गया। जहां पुलिस टीम द्वारा भोपाल रेल्वे स्टेशन, बस स्टैण्ड, लाज होटल, धर्मशालाओं , आदि संभावित स्थानो पर कई लोगो से हुलिया के आधार पर पूछताछ की गई एवं संभावित स्थानो की सीसीटीवी फुटैज देखकर संदिग्ध की पतारशी की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here