मा0 मुख्यमंत्री जी ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान मन्दिर के दर्शन किये

0
30

मा0 मुख्यमंत्री जी ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान मन्दिर के दर्शन किये

 

प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री जी ने वेटेनरी विश्वविद्यालय के अतिथि गृह परिसर में आम का पौधा लगाया

 

 

 

 

वेटेनरी विश्वविद्यालय अतिथि गृह के सभागार में जनप्रतिनिधि एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की

 

स्वच्छता, सुरक्षा एवं सुविधा दिलाना हमारा कर्तव्य है

 

भक्ति वेदान्त गुरूकुल इस्कॉन ग्राम आझई के परिसर में श्रीकृष्ण बलराम मन्दिर एवं दुग्ध प्रसंस्करण केन्द्र का उदघाटन किया

 

 

 

 

भक्ति वेदान्त गुरूकुल इस्कॉन के परिसर में स्थापित गौशाला का अवलोकन किया

 

भक्ति वेदान्त गुरूकुल इस्कॉन के छात्रों को सम्बोधित किया

 

संवाददाता मोहित सैन, मथुरा।

मथुरा । प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने श्रीकृष्ण जन्मस्थान मन्दिर के दर्शन किये तथा विधिवत पूजा अर्चना की। दर्शन के पश्चात वेटेनरी विश्वविद्यालय के अतिथि गृह के परिसर में आम का पौधा लगाया। तत्पश्चात मा0 मुख्यमंत्री जी ने जनप्रतिनिधि एवं वरिष्ठ अधिकारियों के साथ मथुरा के विकास के संबंध में समीक्षा की। बैठक में निर्देश दिये कि आम जनता को स्वच्छता, सुरक्षा एवं सुविधा दिलाना हमारा कर्तव्य है।

 

 

 

 

मा0 मुख्यमंत्री जी ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि मथुरा से राया की सड़क के कार्यों में तेजी लायें तथा सड़कों का चौड़ीकरण करते हुए स्ट्रीट लाईट, अण्डर लाईन केबलिंग आदि का कार्य सुगमता के साथ किया जाये। गौसंरक्षण की व्यवस्था करें, मथुरा-वृन्दावन की यातायात व्यवस्था तथा श्रीबांके बिहारी जी मन्दिर के आस पास व्यवस्थित रूप से भीड़ भाड़ नियंतत्र करने का कार्य करें, जिससे श्रद्धालुओं को असुविधा न हो। मथुरा वृन्दावन की ऐसी विकास कार्य योजना बनायें, जिससे देश विदेश के लोग आकर्षित हों और यह ब्रजभूमि पर्यटन का केन्द्र बने। धार्मिक स्थलों की साफ सफाई, ब्रजभूमि को प्लास्टिक मुक्त करने, सोलिड वेस्ट मेनेजमेंट करने के निर्देश दिये। श्रद्धालुओं एवं पर्यटकों को बेहतर सुविधा देने के लिए धर्मशाला, होटल एवं पार्किंगों आदि को विकसित किया जाये। अधिकाधिक निराश्रित गौवंशों को संरक्षित करते हुए गौशालाओं में पहुॅचायें तथा गोबर का प्रयोग विभिन्न पदार्थों का उत्पादन करने में किया जाये।

प्रदेश के मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने ग्राम आझई में स्थित भक्ति वेदान्त गुरूकुल इस्कॉन के परिसर में श्रीकृष्ण बलराम मन्दिर का फीता काटकर उदघाटन किया। मा0 मुख्यमंत्री जी भव्य मन्दिर में स्थापित सुन्दर एवं आकर्षित भगवान की मूर्तियों को मंत्रमुग्ध होकर देखते रहे। दर्शन के पश्चात श्री योगी जी द्वारा कृष्ण डेयरी एवं इनोवेशन सेन्टर (दुग्ध प्रसंस्करण केन्द्र) का उदघाटन किया गया तथा वहां लगे प्लांट का अवलोकन किया गया। उन्होंने संस्थान द्वारा स्थापित दुग्ध प्रसंस्करण केन्द्र की मशीनों का जायजा लिया तथा वहां उपस्थित इंजीनियरों से विभिन्न मशीनों द्वारा बनाये गये प्रोडेक्ट आदि की जानकारी ली। डेयरी प्लांट लगभग 25000 लीटर की क्षमता का है और यह प्लांट गाय आधारित उत्पाद निर्माण ईकाई के रूप में कार्य करेगी।

मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी ने भक्ति वेदान्त गुरूकुल इस्कॉन परिसर में स्थापित गौशाला का अवलोकन किया। इस परिसर में लगभग 250 गाय प्रवास करती हैं। मा0 मुख्यमंत्री जी ने गौशाला में पूजा की तथा अगरबत्ती जलाकर वातावरण को सुगंधित किया। प्रवासी गौवंशों को अपने हाथों से गुड़ खिलाया तथा उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की।

कार्यक्रम में मा0 मुख्यमंत्री जी ने भक्ति वेदान्त गुरूकुल इन्टरनेशनल स्कूल के छात्र-छात्राओं को हरे कृष्णा कहते हुए सम्बोधित किया। मैं अपने आपको धन्य समझता हॅू कि मुझे इस कार्यक्रम में प्रतिभग करने का सौभाग्य मिला। रज रज में श्रीबांके बिहारी जी के दर्शन होते हैं तथा यहां के लोगों का सौभाग्य है कि उन्हें राधारानी, दाऊजी आदि की सेवा करने का अवसर मिलता रहता है। ब्रज क्षेत्र एक साथ पांच हजार साल से उसी श्रद्धा के साथ जुड़ा हुआ है। यहां बांके बिहारी, भगवान श्रीकृष्ण, राधारानी आदि के दर्शन पूरे देशवासियों को होता है। हरे कृष्णा मूवमेंट और श्रीमदभगवद गीता का प्रचार प्रसार करने और गीता के सही भाव को, ज्ञान भक्त के भाव को आपके सामने लाने के कार्य में स्वामी श्री प्रभुपाद जी के अनुयायी लगे हुए हैं। श्री प्रभुपाद जी ने दुनिया में 108 मंदिर बनाए, आज सैकड़ों मंदिर देश विदेश में हैं। 1976 में जिस गुरुकुल की स्थापना हुई थी, यहां कुशलता पूर्वक संचालित हो रहा है।

हमें अपने अन्नदाता किसानों की आमदनी बढ़ानी है, तो दुग्ध उत्पादन के साथ साथ दुग्ध से बने उत्पादों को बढ़ाना होगा। देश का दीनदयाल उपाध्याय वेटेनरी विश्वविद्यालय बहुत अच्छा कार्य कर रही है। हम सहभागिता योजना के अंतर्गत गौवंश के लिए हर परिवार को 900 रुपये दे रहे हैं। लेकिन गौवंश संरक्षण को जनांदोलन बनाना होगा। भारतीय नस्ल का गोवंश सुरक्षित रहे। इसका संरक्षण करने के लिए वेटेनरी विश्वविद्यालय के प्रयासों में सहभागी बनना होगा। डेयरी उद्योग को बढ़ाने के लिए महिला समूहों को शामिल करना होगा, जिनको प्रशिक्षण देकर डेयरी के विभिन्न कार्यों में शामिल करते हुए किसान एवं समूहों की आय बढ़ेगी। दुग्ध प्रसंस्करण केन्द्र के माध्यम से दुग्ध से बने विभिन्न पदार्थों का वैल्यू एडिशन होगा तथा पदार्थों की गुणवत्ता बरकरार रखते हुए उत्पाद का इजाफा सीधा किसानों तक पहुॅचेगा। दुग्ध उत्पादनों पर जोर देना होगा तथा दुग्ध समितियों का गठन करना होगा एवं उन समितियों को इस्कॉन से जोड़ते हुए किसानों की आमदनी बढ़ानी होगी। यदि किसान की आय बढ़ानी है, तो तहसील स्तरों पर भी दुग्ध समितियों का गठन करना होगा, जो किसानों को सीधा लाभ दिलाने के लिए दुग्ध का प्रयोग दही, घी, मक्खन, वटर आदि बनाने में कर सकते हैं। ग्राम स्वराज की परिकल्पना इस आर्थिक स्वावलम्बन के माध्यम से पूरी हो सकती है। यह धरती तो वैसे ही भगवान की धरती है। भारत से गए सन्यासियों ने वैश्विक मंच पर भारत की पहचान बनाई। इस्कॉन जैसी संस्थाओं ने विदेश में जो भारत की छवि बनाई, वह अनुकरणीय है।

गौ के उत्थान के लिए प्रशिक्षण केन्द्र बना है, जिससे गौसंरक्षण में मदद मिलेगी। भारतीय नस्ल के गौवंश के संरक्षण को जनांदोलन बनाना होगा। मथुरा में खारा पानी की समस्या है जिसका समाधान बरसात के जल का संरक्षण करना है। उन्होंने कहा कि फर्टिलाइजर, केमिकल का प्रयोग सबसे ज्यादा हुआ, वहां पर लगातार बारिश से नुकसान हुआ। लेकिन जहां पर प्रगतिशील किसानों ने प्राकृतिक खाद का प्रयोग किया, वहां बहुत अच्छा उत्पादन हुआ। आज गोबर से सीएनजी भी बन रही है। बदायूं में भारतीय नस्ल के गोबर/गोमूत्र से पेंट का निर्माण हो रहा है। भारत के अंदर गोवंश के गोबर को शुद्ध माना जाता है। गोबर से पेंट बनेगा तो उससे शुद्धता आएगी। प्राकृतिक कृषि बोर्ड के लिए कदम उठा रहे हैं। इससे हर संस्था को जुड़ना चाहिए। हमें न केवल आस्था का सम्मान करना है, बल्कि आम आदमी के जीवन को भी बेहतर करना है। यदि इस्कॉन जैसी संस्थाएं अपने परिसर में इस प्रकार के कार्यों को करेंगी तो उसके अच्छे परिणाम सामने आएंगे। दुग्ध समितियों को इस्कॉन के कार्यक्रम के साथ जोड़ने का कार्य होगा तो प्रयास सार्थक होगा। पशुपालकों और अन्नदाताओं की आमदनी को कई गुना बढ़ा सकती है।

मैं राज्य सरकार की ओर से आश्वस्त करता हूं कि आपको सहयोग मिलेगा। भारतीय फिल्म जगत की अभिनेत्री और धर्म आध्यात्म के हर मंच पर सहभागिता करने वाली हमारी सांसद श्रीमती हेमा मालिनी के कार्यक्रम के लिए मैं कल मथुरा आया था। उक्त कार्यक्रम जवाहरबाग में आयोजित होना था। जवाहर बाग ब्रज के रस के साथ जुड़कर यहां की अध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक विरासत को एक नई ऊंचाइयों की ओर पहुॅचा रहा है। अच्छे लोग आएंगे तो अच्छे कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि सभी जनप्रतिनिधिगण, ब्रजतीर्थ विकास परिषद, प्रशासन, पुलिस, इस्कॉन, सभी धार्मिक संस्थायें मिलकर ब्रज को उसकी पहचान के साथ जोड़ करके पूरे देश और दुनिया के अन्दर भगवान श्रीकृष्ण की लीलाओं की अदभुत केन्द्र के रूप में स्थापित करने का कार्य करेंगे।

कार्यक्रम में मा0 मंत्री गन्ना विकास एवं चीनी मीलें लक्ष्मीनारायण चौधरी, मा0 सांसद श्रीमती हेमा मालिनी, उ0प्र0 ब्रजतीर्थ विकास परिषद के उपाध्यक्ष शैलजा कान्त मिश्र, मा0 विधायक मांट राजेश चौधरी, मा0 विधायक गोवर्धन ठा0 मेघश्याम सिंह, मा0 विधायक बल्देव पूरन प्रकाश, रविकान्त गर्ग, मण्डलायुक्त अमित गुप्ता, एडीजी राजीव कृष्ण, आईजी नचिकेता झा, जिलाधिकारी पुलकित खरे, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव, नगर आयुक्त अनुनय झा, मुख्य विकास अधिकारी मनीष मीना, सीईओ ब्रजतीर्थ विकास परिषद नगेन्द्र प्रताप सहित जिले के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here