फर्टिलाइजर परिसर में प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्थल का एडीजी जोन ने किया निरीक्षण*

0
127

*फर्टिलाइजर परिसर में प्रधानमंत्री कार्यक्रम स्थल का एडीजी जोन ने किया निरीक्षण*

*गोरखपुर (उत्तर प्रदेश)* पीएम मोदी द्वारा खाद कारखाने का 7 दिसंबर के उद्घाटन कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए वरिष्ठ अधिकारी गण अपने अपने दायित्वों का निर्वहन कर रहे हैं। एचयूएल परिसर में अधिकारियों संग एडीजी जोन अखिल कुमार ने बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कार्यक्रम स्थल पर बनाए जा रहे मंच का स्थलीय निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश भी दिया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 7 दिसंबर को एचयूआरएल खाद कारखाने का लोकार्पण करने आ रहे उससे पहले पुलिस प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था चाक-चौबंद बनाए रखने के लिए एच यू आर एल कैंपस मे पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक कर जनसभा स्थल पर बनाए जा रहे मंच का निरीक्षण कर जिम्मेदारियां सौंपी। पीएम आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी दिए गए जिम्मेदारियों को संबंधित अधिकारी अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए पालन करेंगे। सात दिसम्बर 2021 को किसानों का इंतजार अब खत्म होगा हिंदुस्तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल) से किसानों को कोटेड यूरिया मिलना प्रारंभ हो जाएगा उसी दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान एम्स को आम जनता के लिए पूर्ण रूप से सौप देंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एचयूआरएल का उद्घाटन करने के बाद एचयूआरएल परिसर में एक बड़ी जनसभा को संबोधित करेगे और गोरखपुर सहित पूर्वांचल वासियों को बहुत बड़ी सौगात देने का कार्य पीएम नरेंद्र मोदी करेगे जिला व पुलिस प्रशासन अपनी तैयारी में पूरी जोर-शोर से लग गया है पीएम मोदी के आगमन को लेकर किसी भी प्रकार की कोताही ना रहे जिला प्रशासन व पुलिस प्रशासन अपनी अपनी तैयारी शुरू कर दी है। क्यो की गोरखपुर के खाद कारखाने का संचालन की जिम्मेदारी हिंदुस्तान उर्वरक एवं रसायन लिमिटेड (एचयूआरएल) की है। एचयूआरएल एक संयुक्त उपक्रम है जिसमें कोल इंडिया लिमिटेड, एनटीपीसी, इंडियन ऑयल कोर्पोरेशन लीड प्रमोटर्स हैं जबकि इसमें फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड और हिंदुस्तान फर्टिलाइजर कॉर्पोरेशन लिमिटेड भी साझीदार हैं। इस संयुक्त उपक्रम के अधीन गोरखपुर खाद कारखाने के निर्माण में करीब 8000 करोड़ रुपये की लागत आई है। कारखाना परिसर में 30 करोड़ की लागत से विशेष रबर भी बना है जिस पर गोलियों का भी असर नहीं होता है। एचयूआरएल के इस खाद कारखाने की उत्पादन क्षमता प्रतिदिन 3850 मीट्रिक टन और प्रतिवर्ष 12.7 लाख मीट्रिक टन उर्वरक उत्पादन की है। इसके उत्पादनशील होने से पूर्वी उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार व यूपी से सटे अन्य राज्यों में नीम कोटेड यूरिया की बड़े पैमाने पर आपूर्ति सुनिश्चित होगी। यही नहीं आने वाले दिनों में गोरखपुर में बनी यूरिया से पड़ोसी देश नेपाल की फसलें भी लहलहाएंगी। फर्टिलाइजर मंच निरीक्षण के दौरान एडीजी जोन अखिल कुमार मंडलायुक्त रवि कुमार एनजी जिलाधिकारी विजय किरन आनंद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ विपिन ताड़ा सीडीओ इंद्रजीत सिंह ज्वाइंट मजिस्ट्रेट एसडीएम सदर कुलदीप मीना पुलिस अधीक्षक उत्तरी मनोज कुमार अवस्थी पुलिस अधीक्षक ट्रैफिक इंदु प्रभा सिंह क्षेत्राधिकारी कैंपियरगंज अजय कुमार सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण मौजूद रहे।

*जिला रिपोर्टर-सतीश तिवारी गोरखपुर(उत्तर प्रदेश)*

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here