Follow Us

शहीद आजम भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को उनके 85वें शहादत दिवस पर याद किया गया

जौनपुर मड़ियाहूं। शहीद आजम भगत सिंह, सुखदेव और राजगुरु को उनके 85वें शहादत दिवस पर याद किया गया। जिसका आयोजक डॉ विजय मौर्या के नेतृत्व में हुआ, गौशाला सरदार बल्लम भाई पटेल से पैदल चलकर भगत सिंह तिराहे पहुंच कर नगर के लोगों ने प्रतिमा पर श्रद्धासुमन अर्पित किया।

डॉ विजय सिंह मौर्या ने बताया कि 23 मार्च को पूरे भारत में शहीद दिवस मनाया जा रहा भगत सिंह और उनके साथ ही राजगुरु,सुखदेव को फांसी दी गई थी। उनकी शहादत को देश का हर नागरिक सच्चे दिल से सलाम कर रहा है भारत को आजाद कराने के लिए इन वीर सपूतों ने हंसते-हंसते मौत को गले लगा दिया था। भगत सिंह राजगुरु और सुखदेव को फांसी दिया जाना हमारे देश के इतिहास की बड़ी एवं महत्वपूर्ण घटनाओं में से एक है, तीनों क्रांतिकारियों के बलिदान को याद करते हुए आज मड़ियाहूं में शहीदे आजम भगत सिंह की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि दी गई, देश की आजादी के लिए कई वीर सपूतों ने अपने प्राणों को कुर्बानी दी थी जिसमें भगत सिंह सुखदेव और राजगुरु भी एक है अंग्रेजी हुकूमत की खिलाफत करते हुए उन्होंने पब्लिक सेफ्टी और ट्रेड डिस्ट्रीब्यूटर विलास के विरोध में सेंट्रल असेंबली में बम फेंक दिए थे। जिसके बाद उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया था और फांसी की सजा दे दी गई थी, जब भारत में 23 मार्च को इतिहास हमेशा याद रहेगा इसी दिन अंग्रेजी सरकार ने देश के 3 वीर सपूतों को फांसी दी थी।

भारत के सपूतों की कुर्बानी बेकार नहीं जाएगी। शहीदों ने अपनी जान की कुर्बानी देकर देश को आजादी दिलवाई। इसलिए हम सदैव उन अमर शहीदों के ऋणी रहेंगे।

इस मौके पर मौजूद रहे डॉ विजय सिंह मौर्य, अरविंद चौरसिया, रवि सिंह टोनी पत्रकार शादाब अंसारी राजेश कुमार पाल, तालुकदार यादव, फूलचंद यादव, श्याम दत्त दुबे,मनोज चौरसिया, अनिल गुप्ता, स्कन्द पटेल,डॉक्टर अरुण मिश्रा, सतनारायण सेठ, राकेश गुप्ता सभासद नितेश सेठ राहुल गुप्ता पत्रकार, मुकेश मोदनवाल पत्रकार, पत्रकार अशोक कुमार दुबे, शमीम अहमद पत्रकार, , सहित तमाम लोग भगतसिंह के प्रतिमा पर श्रद्धांजलि दी।

जौनपुर ब्यूरो चीफ शादाब अंसारी की रिपोर्ट

Leave a Comment