Follow Us

मान्यताओं एवं लोक संस्कृति को जीवंत बनाए रखते हैं मेले व त्यौहारः मुकेश अग्निहोत्री

मान्यताओं एवं लोक संस्कृति को जीवंत बनाए रखते हैं मेले व त्यौहारः मुकेश अग्निहोत्री

ब्यरो चीफ सुन्दरलाल सोलन, 24 जून। मां शूलिनी मेला की तीसरी व अंतिम सांस्कृतिक संध्या में उप-मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने मुख्य अतिथि के रूप में भाग लिया। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. (कर्नल) धनीराम शांडिल ने उन्हें मेला आयोजन समिति व शहरवासियों की ओर से सम्मानित किया। विशिष्ट अतिथि के रूप में मुख्य संसदीय सचिव राम कुमार चौधरी व कसौली के विधायक विनोद सुल्तानपुरी उपस्थित रहे

   इस अवसर पर उन्होंने कहा कि हिमाचल की समृद्ध लोक-संस्कृति व देव परम्परा देश-विदेश में विख्यात है। यहां के अधिकतर मेले व त्यौहार देवी-देवताओं से जुड़े हैं और मां शूलिनी का यह तीन दिवसीय मेला माता के प्रति शहर व प्रदेशवासियों की अगाध श्रद्धा व आस्था का प्रतीक है। उन्होंने कहा कि इस तरह के आयोजन हमारी लोक मान्यताओं, परम्पराओं और लोक संस्कृति को न केवल जीवंत बनाए रखने में मददगार होते हैं, अपितु इनके संरक्षण एवं संवर्द्धन में भी अपनी उल्लेखनीय भूमिका निभाते हैं। उन्होंने कहा कि सांस्कृतिक संध्याओं के माध्यम से हिमाचल की विशिष्ट लोक संस्कृति व लोक कलाकारों को प्रोत्साहन मिलता है, वहीं बाहरी राज्यों से आने वाले कलाकार हमारी सांस्कृतिक विविधता को नए आयाम प्रदान करते हुए संस्कृति के आदान-प्रदान में सहायक बनते ह

ं।    उन्होंने कहा कि शूलिनी मेला के अवसर पर आयोजित ठोडा नृत्य धनुर्विद्या की हमारी पुरातन विरासत को संजोए हुए है, वहीं कुश्तियां एवं दंगल के आयोजन प्राचीन खेलों को आगे ले जाने में अपनी भूमिका बखूबी निभा रहे हैं। उन्होंने मेले के सफल आयोजन के लिए जिला प्रशासन व मेला समिति को बधाई दी और इसमें शहरवासियों सहित सभी के सहयोग की भी सराहन

की।   इस अवसर पर जोगिंद्रा सहकारी बैंक के अध्यक्ष मुकेश शर्मा, नगर निगम सोलन के पार्षदगण, प्रदेश कांग्रेस महासिचव सुरेंद्र सेठी, ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष संजीव ठाकुर, शहरी कांग्रेस के अध्यक्ष अंकुश सूद, नगर निगम की आयुक्त एकता काप्टा, उपमंडलाधिकारी (ना.) डॉ. पूनम बंसल सहित अन्य गणमान्य उपस्थ

ित थे।

Leave a Comment