Follow Us

भानु प्रताप सिंह थाना जैतपुर प्रभारी ने 6 महीने पूर्व अंतर्गत अंधी हत्या का किया खुलासा

भानु प्रताप सिंह थाना जैतपुर प्रभारी ने 6 महीने पूर्व अंतर्गत अंधी हत्या का किया खुलासा

शहडोल(घनश्याम शर्मा) -ग्राम चकौडिया के जंगल में मिला था अज्ञात महिला का शव • प्रेमी ही निकला हत्यारा, दोस्त की मदद से छुपाया था शव
दिनांक 06.03.2023 को थाना जैतपुर में सूचना प्राप्त हुई कि ग्राम चकौड़िया के जंगल मे नाले के पास एक अज्ञात शव संदेहास्पद स्थिति में पड़ा हुआ। पुलिस द्वारा सूचना पर तत्काल मौके की कार्यवाही पूर्ण कर मर्ग कायम कर जांच में लिया गया। पुलिस अधीक्षक शहडोल श्री कुमार प्रतीक द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण किया गया एवं जांचकर्ता अधिकारी को जांच के संबंध में विस्तृत निर्देश दिये गये।
जांच के दौरान अज्ञात मृतिका के पहचान हेतु पुलिस द्वारा हरसंभव प्रयास किये गये। जो अज्ञात मृतिका की पहचान दयावती ऋसह पति शंभू ऋसह गोंड़ उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम गिरवा का होना पहचान किया गया।

मृतिका दयावती के पहचान के पश्चात परिजनो के कथन लेखबद्ध किये गये जिस पर पता चला कि मृतिका दयावती की शादी वर्ष 2006 में शंभू ऋसह के साथ ग्राम गिरवा में हुई थी जिसके 3 बच्चे भी थे। दयावती ॠ ठंडी के समय वर्ष 2019 मे मायके ग्राम बकही जाना कहकर ग्राम गिरवा से ग्राम मंजीरा एवं जुरगू में अन्य व्यक्ति के साथ रहने लगी थी। कई दिनो से मृतिका का पता नही चलना व घर वापस नही आना परिजनो के द्वारा बताया गया।

पुलिस जांच के दौरान मृतिका दयावती ॠसह पति शंभू ऋसह गोंड़ उम्र 28 वर्ष निवासी ग्राम गिरवा थाना बुढार को अज्ञात व्यक्ति के द्वारा कही दुसरी जगह पर गला घोटकर हत्या कर साक्ष्य छिपाने के लिये ग्राम चकौडिया जंगल रोड किनारे नाला में फेंकना, मृतिका का चेहरा छुपाने के लिए उसके चेहरे मे कंबल ढाक देना पाया गया। जिस पर अज्ञात आरोपी के विरुद्ध हत्या का अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया।

विवेचना के दौरान पुलिस के द्वारा प्रारंभिक तौर पर मिले साक्ष्यों के आधार पर संदेही दिनेश सिंह पिता पिता रमेश ऋसह उम्र 26 वर्ष निवासी लुकामपुर थाना जैतपुर की पता तलाश कर दिनांक 21. 09.23 को रायपुर (छ.ग.) से दस्तयाब कर अभिरक्षा मे लिया गया। पूछताछ में संदेही ने बताया कि जनवरी 2023 में दयावती उर्फ दुर्गा सिंह से उसकी मुलाकात शहडोल में हुई थी जिसके बाद दोनो में फोन पर बात-चीत होने लगी और प्रेम संबंध शुरू हो गया एवं दोनो अक्सर मिला भी करते थे। कुछ समय पश्चात दयावती उर्फ दुर्गा सिंह और उसके बीच शादी की बात को लेकर विवाद हुआ। दिनांक 04.03. 2023 को उसे पता चला कि वह उसके गांव लुकामपुर आ गई है। अगले दिन सुबह वह दयावती उर्फ दुर्गा सिंह से मिला जिस पर पुनः शादी के बात को लेकर विवाद होने लगा। जिस पर उसके द्वारा दयावती सिंह के दुपटटे से उसका गला दबाकर हत्या कर दी गई। घर से बाहर आकर उसने यह बात बब्लू सिंह को बताई। जिसके बाद रात्रि में मोटर साईकल एमपी 18 एमटी 8662 पैशन प्रो के माध्यम से शव को ग्राम चकौड़िया के नदी के किनारे जंगल मे ले जाकर फेंक दिये।

आरोपी के कथन के आधार पर घटना में प्रयुक्त मोटर सायकल जप्त किया गया है। आरोपी दिनेश सिंह पिता पिता रमेश सिंह उम्र 26 वर्ष एवं बब्लू सिंह गोड़ पिता राधे सिंह उम्र 25 वर्ष दोनों निवासी ग्राम लूकामपुर थाना जैतपुर को दिनांक 22.09.23 को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है। अंधी हत्या के खुलासे में थाना प्रभारी जैतपुर निरी. भानुप्रताप सिंह, उप निरी. सी. एल. बरकडे, सउनि विजय बुंदेला, प्रआर. मोह. जाहिद, आर. जयेन्द्र सिंह, विजय कुमार महरा, नारेन्द्र सिंह, राममोशन शर्मा, सोनू दुबे एवं आर० सत्यप्रकाश मिश्रा की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

Leave a Comment