Follow Us

बेशर्म राजनीति और अफसरों की मिली भगत के बीच कोऑपरेटिव सोसायटी भर्ती घोटाले ने मानो जनपद में भूचाल से ला दिया है, 200 भर्ती

सहारनपुर से बड़ी खबर

बेशर्म राजनीति और अफसरों की मिली भगत के बीच कोऑपरेटिव सोसायटी भर्ती घोटाले ने मानो जनपद में भूचाल से ला दिया है, 200 भर्ती, 90 को अनापत्ति प्रमाणपत्र करोड़ो की बन्दर बांट आखिर क्या हो रहा है?

नियुक्तियों की प्रासंगिकता पर लगे प्रश्न चिन्ह

सहारनपुर: लोकसभा चुनाव से पूर्व कॉपरेटिव सोसायटियों में भर्ती के नाम पर हुई करोड़ो की लूट ने मानो जनपद की सांस ही रोक दी, राजनीतिक दखलंदाज़ी अफसरों की मनमानी, सहकारिता विभाग की शह पर खेले गए इस खेल में पिछले छह माह में 200 भर्तियों के नाम पर करोड़ो रूपये एकत्र किए गए, सूत्रों की माने तो एक एक भर्ती में 15 से 20 लाख तक की बन्दर बांट की जानकारियां प्राप्त हो रही है, रुपये की बन्दर बांट में न नेता पीछे रहे, न अधिकारी पीछे रहे और न ही सहकारिता विभाग के कुछ अधिकारी और कर्मचारी, यही नही सोसाइटी में हुई यह भर्तियां जिनमे 90 लोगो को चुनाव पूर्व सहायक निबन्धक सहकारिता द्वारा अनापत्ति प्रमाणपत्र तक दे दिए गए थे, हालांकि शोर मचा तो प्रदेश शासन तक इस प्रकरण की गूंज सुनाई देने लगी, आनन फानन में सहायक निबन्धक का स्थानंतरण हो गया तथा कई सोसायटी के एमडी अपने अपने स्तर पर अपने आकाओं की शरण मे चक्कर लगा रहे है, सूत्रों की माने तो मुख्यमंत्री योगी द्वारा इस प्रकरण का संज्ञान लेकर एक उच्चस्तरीय जांच भी बैठाई जाने की सूचना है वही इस बंदरबांट में लिप्त नेता, अधिकारी और कर्मचारी भी इसकी जांच में झुलस सकते है यही नही 90 नियुक्तियों के ऊपर भी अब तलवार लटकने के साथ वह नाम जिन्होंने बन्दर बांट की है वह शासन और प्रशासन की निगाह में बताये जा रहे है, ऐसे में उन पात्रों का क्या होगा जिनकी नियुक्तियों में भारी भरकम रकम लेकर बन्दर बांट की जा चुकी है। बहरहाल यदि निष्पक्ष जांच होगी तो बहुत से भृष्टाचारी इसमें जनता के सामने आएंगे।

रिपॉर्ट
रमेश सैनी सहारनपुर

खबर सूत्रों के हवाले से

Leave a Comment