डायरिया से एक महिला की मौत, तीन बच्चे हुए अनाथ

0
36

बजरंग कुमार इंडियन टी वी न्यूज़

गुमला: झारखंड राज्य के गुमला जिला अंतर्गत घाघरा प्रखंड के देवकी कुसुमटोली में डायरिया का प्रकोप तेजी से फैल रहा है। देवकी कुसुमटोली गांव में डायरिया का प्रकोप बढ़ गया है। गुरुवार को सदर अस्पताल गुमला में डायरिया से पीड़ित एक एक महिला की मौत हो गई। मृतक का नाम प्रतिमा देवी उम्र लगभग 30 वर्ष है। मृतक के तीन छोटे-छोटे बच्चे हैं। मृतक के बड़ी बेटी बंदना कुमारी का उम्र 6 वर्ष, दूसरी बेटी अनुष्का कुमारी का उम्र 3 वर्ष एवं छोटा बेटा नमन उरांव का उम्र डेढ़ वर्ष है । वहीं गांव के 10 से अधिक मरीजों को बेहतर इलाज के लिए लोहरदगा घूमने एवं रांची के अन्य अस्पतालों में एडमिट किया गया है। कई दिनों से डायरिया का प्रकोप बना हुआ है। उल्टी-दस्त की शिकायत पर ग्रामीण अपने स्तर से उपचार करा रहे थे। रविवार की रात डायरिया से ग्रसित प्रतिमा देवी की सदर अस्पताल गुमला में इलाज के दौरान मौत हो गई।
इधर गांव में मौत होने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया है।वहीं स्वास्थ्य विभाग की टीम ने गांव में मेडिकल कैंप भी लगाया है.
घाघरा प्रखंड के प्रखंड विकाश पदाधिकारी दिनेश कुमार कुशुमटोली गांव पहुचा । और मृतक के परिवार को परिवारिक लाभ योजना का लाभ देने का बत कहा । साथ ही ग्रामीणों से कहा मुख्य चिकित्सा की है कि वर्षा ऋतु में नदी नाले का पानी उपयोग पीने में ना करें। गला, सड़ा, बासी भोजन ना खाएं। भोजन को ढक कर रखें। पीने के पानी को छानकर व उबालकर ही पिए।
सुक्का बृज्या स्पताल विकास भारती बिशुनपुर द्वारा महेन्द्र भगत के नेतृत्व में इलाज के लिए कुशुमटोली गांव में कैम्प लगाया गया । मेडिकल टीम में डॉक्टर एस आर आचार्य, नर्स बिरसी देवी ,हेल्पर एवं दो अन्य नर्स थी ।
खबर लिखे जाने तक घाघरा स्वास्थ्य उपकेंद्र घाघरा का टीम नहीं पहुंचा था

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here