Follow Us

चन्दौली उत्तर प्रदेश के बरेली में एक ऐसा हनीट्रैप गिरोह सक्रिय है

इंडिया टीवी न्यूज़ ब्यूरो चीफ करन भास्कर चन्दौली उत्तर प्रदेश

चन्दौली उत्तर प्रदेश के बरेली में एक ऐसा हनीट्रैप गिरोह सक्रिय है, जो पुरुषों को तो अपने जाल में फंसाकर उनसे मोटी उगाही कर रहा है तो वहीं इस गिरोह के बदमाश महिलाओं को भी शिकार बनाते हैं और उन्हें अपने गैंग के लिए काम करने के लिए विवश करते हैं।इसी तरह के मामले में फंसी दो महिलाओं ने बरेली पुलिस को शिकायत दी है। इस शिकायत के आधार पर पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया है। पीड़ित महिलाओं ने पुलिस को दिए शिकायत में बताया है कि इस गिरोह ने एक पुलिस इंस्पेक्टर समेत 32 लोगों को शिकार बनाकर उनसे करीब ढाई करोड़ रुपये की वसूली कर ली है।सोशल मीडिया के जरिए तलाशते हैं शिकार पीड़ित महिलाओं ने बताया कि यह संख्या तो उनकी जानकारी में है। अभी ना जाने कितनी वारदातों को इस गिरोह ने अंजाम दिया है, जिनके बारे में उन्हें कोई खबर ही नहीं। पीड़ित महिलाओं के मुताबिक गिरोह के बदमाश सोशल मीडिया के जरिए महिलाओं से संपर्क करते हैं और उन्हें न्यूड वीडियो दिखाकर पूरी वीडियो रिकार्ड कर लेते हैं। इसके बाद ये बदमाश इन महिलाओं को वही वीडियो भेज कर अपने साथ काम करने के लिए दबाव बनाते हैं। ऐसा ना करने पर वीडियो वायरल कर बदनाम करने की धमकी देते हैं। इसी प्रकार पुरुषों को भी इसी तरह का वीडियो भेज कर किसी से एकमुश्त तो किसी से मंथली वसूली करते हैं।मां बेटी मिलकर बिछाते हैं जाल पीड़ित महिलाओं ने बताया कि उनकी जानकारी में 12 ऐसे लोग हैं, जो इस गिरोह को 7-7 लाख रुपये का भुगतान कर चुके हैं। इसके बाद भी आरोपी उनसे 20 हजार रुपये महीने वसूल कर रहे हैं। पीड़ित महिलाओं की शिकायत पर बरेली कैंट थना पुलिस ने तीन आरोपियों के खिलाफ नामजद केस दर्ज किया है। इनमें से दो आरोपी तो मां बेटी हैं, जबकि तीसरा आरोपी कोई बाहर का है। अपनी शिकायत में पीड़ित महिलाओं ने बताया कि आरोपी सोशल मीडिया पर अपना शिकार तलाशते हैं। उसे भी आरोपियों ने पहले पैसे कमाने का लालच देकर अपने गैंग में जोड़ने का प्रयास किया और मना करने पर आरोपियों ने उसकी फोटो और वीडियो वायरल करने की धमकी देकर धंधे में उतारने की कोशिश की।तीनो आरोपियों की तलाश में जुटी पुलिस पीड़िता ने अपनी शिकायत में बताया कि आरोपियों ने हाल ही में पीलीभीत के थानेदार को अपने जाल में फंसाया और फिर उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई और समझौते के नाम पर मोटी रकम वसूल की थी। इस मामले में थानेदार पहले ही सस्पेंड भी हो चुके हैं। इन बदमाशों ने अब तक व्यापारी, अधिकारी, रिटायर्ड अधिकारी, नेता और समाजसेवियों को अपने जाल में फंसाया है और उनसे मोटी रकम वसूल की है। बरेली के एसपी ग्रामीण राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि दो महिलाओं ने इसी तरह की शिकायत दी है। इन शिकायतों के आधार पर तीन लोगों माधुरी पाल और उसकी बेटी नैना पाल के अलावा मनाजे पाल के खिलाफ नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने तीनों आरोपियों की तलाश कर रही है।

Leave a Comment