Follow Us

मंत्री जी अलवर में हर रोज कट रहे पेड़ों को लेकर भी इतने ही जागरुक

रिपोर्टर सुरेन्द्र सिंह बडेर अलवर (इंडियन टीवी न्यूज़ )

अलवर। मंत्री जी अलवर में हर रोज कट रहे पेड़ों को लेकर भी इतने ही जागरुक और गंभीर हो जाएं तो कमर्शियल भावनाओं के आगे से रात के अंधेरे में काटे जा रहे पेड़ कटना बंद हो सकते हैं।

फिर शायद मुझे कमर्शियल भवनों के मालिकों के विरुद्ध ना तो खबर चलाने की जरूरत पड़ेगी और ना ही कोट में केस करने की।

क्योंकि नेता और प्रशासन की उपेक्षा के कारण ही आज हमें पेड़ काटने वाले लोगो के खिलाफ कोर्ट का दरवाजा खटखटाना पड़ रहा है अब यदि मंत्री जी शहर में कट रहे पेड़ों को कटने से बचा सके तो हमारा कोर्ट में खर्च होने वाला पैसा बच सकता है।

शहर में पेड़ कटने से बचने के लिए दो कानून भी है।

1,पर्यावरण संरक्षण अधिनियम 1986 के नियम 1) के अध्यधीन अरावली पर्वत श्रृंखलाओं से पर्यावरण को बचाए रखने हेतु पेड़ों को काटने वाले के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जा सकती है।
2,पर्यावरण अधिनियम और नगरपालिका अधिनियम 2009 के तहत भी पेड़ काटने वालों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जा सकती हैं और जुर्माना भी लगाया जा सकता है।

मंत्री जी पिछले तीन महीना में अलवर शहर में कम से कम 20 कमर्शियल भावनों के आगे से रात के अंधेरे में पेड़ काटे गए हैं जो 20 से 30 वर्ष पुराने थे। अब आने वाले 3 महीनों में भी अलवर के ऐसे 10 भवन है जिनके आगे से पेड़ रात के अंधेरे में काटे जाएंगे। जिनकी वीडियो मैने बना रखी है अगर आप सच में पेड़ बचाना चाहते हैं तो मैं सभी भवनों की पेड़ सहित वीडियो उपलब्ध करा सकता हूं।
बाकी पेड़ बचाने के लिए आपने जो प्रयास किया है

Leave a Comment