Follow Us

अलवर में एक और बेहतरीन खबर..रोटी बैंक के साथ दान पात्र को देखा।

रिपोर्टर सुरेन्द्र सिंह बडेर अलवर (इंडियन टीवी न्यूज़)

अलवर में एक और बेहतरीन खबर..रोटी बैंक के साथ दान पात्र को देखा।

अलवर की स्कीम नंबर दो कॉलोनी में इस रोटी बैंक के दान पात्र को देखा। सुना है ऐसे ही दान पात्र शालीमार सोसायटी में भी लगे हुए हैं। इस दान पात्र को देख कर बहुत अच्छा लगा। पहली बार ऐसा लगा जैसे चलो कोई तो है जो गौ माता की सोच रहा है।
नहीं तो अलवर की जनता, अलवर के नेता और अलवर के धार्मिक संगठनों ने तो गाय माता को सड़कों पर कचरा खाने के लिए छोड़ दिया है। राजनीति में गाय माता का कैसे इस्तेमाल करना है यह तो शहर का हर नेता हर धार्मिक संगठन जानता है लेकिन गाय माता को कैसे सड़कों पर कचरा खाने से रोका जा सकता है यह अलवर का एक भी नेता या एक भी संगठन नहीं जानता है।
खैर यह बहुत अच्छा प्रयास है बचपन में हमने बहुत छोटी उम्र में यह सुन लिया था कि घर की एक रोटी गाय माता की है और गाय माता हिंदू धर्म में सर्वश्रेष्ठ है।
ऐसा माना जाता है कि काली गाय को रोज रोटी खिलाने से व्यक्ति की हर मनोकामना पूरी होती है साथ ही सभी महत्वपूर्ण काम भी बनने लगते हैं।
जिस व्यक्ति का भाग्य साथ नहीं देता हो , वह अपने हाथ में गुड़ रखकर गाय को खिलाएं , गाय की जीभ से हथेली चाटने पर भाग्य जाग जाता है , गाय की पूजा करने से नौ ग्रह शांत रहते हैं , गौ माता के पंचगव्य के बिना पूजा – पाठ , हवन सफल नहीं होते हैं

Leave a Comment