Follow Us

जिला अधिकारी कार्यालय के नजदीक ट्रैफिक सिपाही से उलझता एक स्कूटर चालक

*जिला अधिकारी कार्यालय के नजदीक ट्रैफिक सिपाही से उलझता एक स्कूटर चालक

सहारनपुर , सहारनपुर के अंदर ट्रैफिक पुलिस धूप बरसात आंधी तूफान में आपके लिए हमेशा सड़कों पर ट्रैफिक को कंट्रोल करने में लगे रहते हैं अभी पिछले दिनों 47 डिग्री के तापमान में भी यह ट्रैफिक कर्मी अपनी ड्यूटी में धूप में सड़कों पर खड़े हो कर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहे थे
परंतु कुछ बिगड़े घरों के लड़के कुछ नेतागिरी का नशा रखने वाले लड़के ट्रैफिक पुलिस कर्मियों की इज्जत करना भूल जाते हैं वह यह भूल जाते हैं कि यह सारा दिन धूप में खड़े होकर पूरे शहर का ट्रैफिक कंट्रोल करते हैं आप देखते होंगे जिस चौराहे पर पुलिस नहीं होती अक्सर उसी चौराहे पर घंटे घंटे जाम लगा रहता है और उस समय आप याद करते हैं कि पुलिस वाला होता तो शायद रोड खुलवा देता तो आप उस समय क्यों भूल जाते हैं ट्रैफिक सिपाही को जब एक ट्रैफिक वाले को कोई भी आकर लड़ने को तैयार हो जाता है आज कलेक्ट्रेट के ठीक सामने चौक पर एक स्कूटर चालक जिसके पीछे एक महिला भी बैठी थी एक ट्रैफिक कर्मी को ऐसे डाट रहा था जैसे तनख्वाह उसके घर से इस ट्रैफिक के सिपाही को मिलती है हुआ यह कि एक छोटा हाथी वाला उस स्कूटर चालक को साइड नहीं दे रहा था स्कूटर चालक ने किसी तरह उसके आगे निकाल कर छोटा हाथी रुकवाया और उसे गाली गलौज शुरू करी इतने में ट्रैफिक कर्मचारी चौक से वहां जाम खुलवाने के लिए पहुंचा तो वह व्यक्ति ट्रैफिक कर्मचारी से उलझ गया जिसकी वीडियोवहां पर खड़े कुछ लोगों ने बनाई जिसका कुछ भाग हमें भी मिला वह कह रहा था कि मैं अपना परिचय नहीं दे रहा यदि मैं परिचय दे दूंगा तो यह हो जाएगा और वह हो जाएगा ट्रैफिक कर्मचारी उसे समझा रहा था कि जाम लग गया है तुम साइड में हो जाओ मैं इसे भी साइड में कर रहा हूं लेकिन वह हटने को तैयार नहीं था काफी देर नोकजोक बाद पीछे से एक दरोगा ट्रैफिक दरोगा आए और उन्होंने उसे साइड कराया उसके बाद वह स्कूटर वाला रुक नहीं भाग गया
क्या सहारनपुर की जनता के दिल में एक बार भी यह नहीं आता कि सारा दिन जो व्यक्ति धूप में बरसात में आंधी में तूफान में आपके ट्रैफिक कंट्रोल करने में खड़ा रहता है उसकी इज्जत होनी चाहिए रिपोर्ट रमेश सैनी सहारनपुर

Leave a Comment