Follow Us

दो साल से सड़क निर्माण का कार्य अधूरा छोड़ देने से ग्रामीणों में रोष, आवागमन में परेशानी

दो साल से सड़क निर्माण का कार्य अधूरा छोड़ देने से ग्रामीणों में रोष, आवागमन में परेशानी

गाजीपुर। कुसुम्हीकला से मदनहीं-भटौली, चोचकपुर मुख्य मार्ग तक जाने वाली 719.01 लाख लागत वाली 6.725 किमी सड़क की निर्माण अवधि समाप्त होने के बाद भी निर्माण कार्य अधूरा है। ग्रामीण अभियंत्रण विभाग गाजीपुर को इस सड़क का निर्माण कार्य 1 नवंबर 2022 में शुरू कर 31 अक्टूबर 2023 तक पूरा करवाना था। कारण जो भी हो लेकिन निर्माण अवधि बीत जाने के बाद भी अब तक सड़क निर्माण करने की दिशा में कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया। विभाग के अनदेखी की वजह से इस सड़क की समस्या को लेकर ग्रामीण परेशान हो रहे है। यह सड़क कुसुम्हीकला से मदनहीं, भटौली गांव होते हुए चोचकपुर मुख्य सड़क को जोड़ती है। इस सड़क के निर्माण को लेकर 6.725 किमी सड़क की पांच वर्षीय अनुरक्षण लागत भी 62.05 लाख बोर्ड पर दर्शायी गयी है। इसके बावजूद सड़क निर्माण का कार्य पूरा नहीं हुआ, जिससे लोगों में आक्रोश व्याप्त है। इस सड़क का टेंडर होने के बाद ग्रामीणों के बीच आस लगी थी कि साल भर के अंदर सड़क निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा लेकिन सड़क की निर्माण कार्य पूरा नहीं होने से लोगों में विभाग के विरुद्ध असंतोष व्याप्त है। ग्रामीणों ने बताया कि लगभग दो साल से विभाग के अनदेखी का खामियाजा मदनहीं, भटौली, कुसुम्हींकला की आबादी भुगत रही है। सड़क पर गिट्टी डालकर सिर्फ रोलर चला दिया गया है जिससे आए दिन लोग दुर्घटना का शिकार होते रहते है। इन दिनों सड़क की बदहाली के कारण लोगों का पैदल चलना भी मुश्किल हो गया है। मदनहीं-भटौली गांव से मुख्य सड़क तक आवागमन हेतु ग्रामीणों को इसी सड़क से होकर मुख्य मार्ग तक पहुंचना उनकी मजबूरी है। ग्रामीणों ने जनहित का ध्यान रखते हुए अविलंब सड़क निर्माण कराने की मांग जिलाधिकारी से की है।

ज़ियाउल हसन अंसारी, मण्डल ब्यूरो
वाराणसी आजमगढ़ मण्डल

Leave a Comment